अनमोल वचन

1- जो व्यक्ति जितना ही वस्तु के पिछे दौड़ता है वह अपनी अवस्तुता उतनी ही मात्रा में खोता चला जाता है। वह वस्तु जब उसे प्राप्त होती है उसके बदले वह अपनी अवस्तुता अर्थात् चेतना खो देता है।

2- विज्ञान विश्वास को खंडित करता है किन्तु बिना विश्वास के रहता भी नही है। धर्म और विज्ञान मे सामंजस्य लाने के लिए बार-बार प्रयास करने का आशय है तर्क और विश्वास में ताल-मेल बैठाना। ऐसा  विश्वास जो तर्क को पुष्ट करता है अर्थात कारण-कार्य के नियम में विश्वास वह अपने को तभी सुरक्षित रख तकता है जब उसके संग स्वस्थ तर्क-शक्ति भी हो।

Leave a Reply